Categories
Poetry (Hindi-Urdu)

नमाज़

गूंजती है फिज़ा में जब फ़जर की अज़ान
पाक रूहानियत में गिरफ्तार हो जाता है जहान
ठंडी हवा जो बहती है हौले-हौले
हम तक पहुंचाती है खुशबू-ए-अमान

सारा जहां झुका लेता है सजदे में सर
फूल पत्ते नन्हीं चिड़िया नहर-ओ-शजर
हाथ उठ जाते हैं खुद-ब-खुद दुआ में
जुबां पर रहता है बस अस-समद का ज़िकर

कामों में उलझे इब्न-ए-आदम वफ़ूर
इस जहां की दौड़ में होने लगते हैं चूर
याद दिलाने कि सफर ये आख़रत का है
फैल जाता है मस्जिदों से अज़ान-ए-ज़ुहर का नूर

साथ झुकते हैं सर सारे उठते हैं हाथ
ज़िक्र होता है अल्लाह का दुरूद-ए-रसूल पाक
इस जहां की चमक में न खो जाए हम कहीं
दिखाती हैं‌ सिरातुल मुस्तकीम कुरआन की आयत

कभी फ़ुर्सत मिले तो पल-दो-पल को बैठ जाना
मूंदकर आंख छांह-ए-दरख़्त में ग़ाएबाना
अलसाई धूप की बाहों में खुद को खोकर
कभी सुनना क़ुदरत का पुर-अमन अफ़साना

बेदार होगे तब उस नींद से जो बरसों से थी
सलात-ए-अस्र में हो जाएंगी नम आंखें यूं हीं
सफर ये मुश्किल है हैं हम यहां जबतक मुसाफ़िर
सुजूद-ओ-क़ुनूत में है रियायत न और कहीं

सूखे लबों पे नाम अल्लाह सुभानअल्लाह
प्यासे हलक़ में प्यास अल्लाह सुभानअल्लाह
सहर से तिश्नगी में जिनकी थे सब भूल बैठे
सुन मग़रिब की अज़ान कहे हर जर्रा सुभानअल्लाह

वो सुकून आला है दुनिया के सुखों से सारे
सब्र-ओ-इबादत में सराबोर क़ल्ब-ए-गेहवारे
जो नज़दीक अल्लाह के सबसे ये है वो निकहत
हो जाते हैं ताहिर हर नफ्स जैसे गुल-पारे

ये दुनिया का फ़ल्सफ़ा यही है मरकज़-ए-हयात
बाद दिन के आनी ही है काली अंधेरी रात
न डर जाए कहीं रात से अब्द-ए-अल्लाह
अय्याम-ए-इशा लेकर आता है तबर्रुकात

शुक्र अल्लाह अर-रहमान अस-समी अल-बशीर
वो मालिक हैं सबके जहां-ओ-अख़ीर
हमें तौफ़ीक़ दें हिदायत-ओ-करम
हो रोज़-ए-हश्र में हिसाब या अल्लाह मुनीर

© Muntazir
Picture Credit

5 replies on “नमाज़”

बेहद खूबसूरत और पुरसुकून है इब़ादत की अद़ा;
सिर जमीं पे रखो और आसमान हो जाती कुबूल हर दुआ।
बेहद पाक लफ्ज़ है आपकी नज़्म में।

Ameen! Subhanallah bahut achha likha hai. One of your best posts I must say. I request you to write in nastaliq as well along with a English translation of so possible. Jazakallah 🌹

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s