Categories
Poetry (Hindi-Urdu)

नफ़रत के सभी

नफ़रत के सभी फूल बे-मौसम ही झड़ गए
मुनफ़िक़ों के आशियाने बस कर भी उजड़ गए

हक़ बात सुनकर जो मुंह मोड़ लेते थे
सतून उनके घरों के एक-एक कर उखड़ गए

हमने तो बस ज़िक्र-ए-हश्र किया था
न जाने उनके मिज़ाज क्यों बिगड़ गए

नेमतें ख़ुदा से इतनी मिली
कि गिनने बैठे तो तारे कम पड़ गए


نفرت کے سبھی پھول بے موسم ہی جھڑ گئے
منفقوں کے آشیانے بس کر بھی اجڑ گئے

حق بات سنکر جو منہ موڑ لیتے تھے
ستون انکے گھروں کے ایک ایک کر اکھڑ گئے

ہمنے تو بس ذکرے حشر کیا تھا
نا جانے انکے مزاج کیوں بگڑ گئے

نعتیں خدا سے اتنی ملی
کی گننے بیٹھے تو تارے کم پڑ گ

© Muntazir
Picture Credit

Categories
Poetry (English)

Saffron Masks

Your masks are falling down.
The paint is peeling off.
The saffron colour you used to hide
Your hideous inhuman desires
Behold is turning red,
Revealing your sick grim face
Smeared stained bespattered
With millions’ innocent blood.

Babies wrapped in white cloth
Beneath the palm trees,
Under your feet you crush them
Oh so mercilessly.
You swim in pools of blood.
How will you rinse it off your hands?
Oh butcherers of humanity
What is your vaulting ambition?

Smoke has filled the gardens,
Bodies float in black streams.
Random lines on a piece of paper
Daily change our identities.
Who are the purple hands to
Decide our name our place our fate?
Don’t you try to suppress us,
We stand together against you oh hypocrites.

© Muntazzir
Picture Credit

Categories
Poetry (Hindi-Urdu)

शजर-ए-दुनिया

ये रात गुज़र जाएगी कल कौन जाने
उम्र के बाकी हैं कितने पल कौन जाने

कैफ़िय्यत-ए-हयात-ओ-नफ्स ताहिर हो
उल्फ़त-ए-दुनिया है तिलिस्म हल कौन जाने

आफताब बन सको तो रौशन है ज़माना
पराई चमक पर माहताब का बल कौन जाने

नील-सा निकलो जो बयाबां से तो बात भी है
वगर्ना वीरानों में सूखे पड़े नल कौन जाने

मुहब्बत पाकीज़ा वही है जो ख़ुदा से हो
इश्क़ की आग में जलना है तो जल कौन जाने

शुआ-ए-ज़र-ओ-आस ज़िक्र-ए-अल्लाह से है
शजर-ए-दुनिया में क्या रखा है फल कौन जाने

हर गाम पर फ़रेब है इस सफर में मुसाफिर
फितरत है मुनाफ़िक़ का छल कौन जाने

एक कैद है दुनिया ये मरसिया है जिंदगी
सजी है बिखरे अशआरो से ग़ज़ल कौन जाने

© Muntazir
Picture Credit